Ganesh Vandana Lyrics in Hindi

Ganesh Vandana Lyrics in Hindi

Ganesh Chaturthi has started. Whenever you worship on this occasion, do not forget to sing this aarti to please God. You Can read below seven Ganesh Chaturthi Special song in Hindi language. Get Ganesha Chaturthi Vandana song Lyrics in Hindi and Check out Ganpati Vandana song lyrics for Ganesh Chaturthi Pooja.

ज्ञान के देवता गणेश जी अपने भक्‍तों की हर मुराद पूरी करते हैं। किसी भी शुभ कार्य को करने से पहले इन्‍हीं का नाम लिया जाता है क्‍योंकि इनका नाम भर लेने से आपके सारे काम अपने आप ही बनते चले जाएंगे। गणेश चतुर्थी की शुरुआत आज से हो रही है। इस दिन लोग गणपति बप्पा की घर में स्थापना करते हैं और पूजा करते हैं।

गणेश की आराधना

1. जय गणेश देवा

जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश, देवा
माता जाकी पारवती, पिता महादेवा…

एकदन्त, दयावन्त, चारभुजाधारी,
माथे पर सिन्दूर सोहे, मूसे की सवारी
पान चढ़े, फूल चढ़े और चढ़े मेवा,
लड्डुअन का भोग लगे, सन्त करें सेवा…

जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश, देवा
माता जाकी पारवती, पिता महादेवा ..

अंधन को आँख देत, कोढ़िन को काया,
बाँझन को पुत्र देत, निर्धन को माया
‘सूर’ श्याम शरण आए, सफल कीजे सेवा,
जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा ..

जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश, देवा .
माता जाकी पारवती, पिता महादेवा ..

2. सुख करता दुखहर्ता वार्ता विघ्नाची

सुख करता दुखहर्ता, वार्ता विघ्नाची
नूर्वी पूर्वी प्रेम कृपा जयाची
सर्वांगी सुन्दर उटी शेंदु राची
कंठी झलके माल मुकताफळांची

जय देव जय देव, जय मंगल मूर्ति
दर्शनमात्रे मनःकमाना पूर्ति
जय देव जय देव

रत्नखचित फरा तुझ गौरीकुमरा
चंदनाची उटी कुमकुम केशरा
हीरे जडित मुकुट शोभतो बरा
रुन्झुनती नूपुरे चरनी घागरिया

जय देव जय देव, जय मंगल मूर्ति
दर्शनमात्रे मनःकमाना पूर्ति
जय देव जय देव

लम्बोदर पीताम्बर फनिवर वंदना
सरल सोंड वक्रतुंडा त्रिनयना
दास रामाचा वाट पाहे सदना
संकटी पावावे निर्वाणी रक्षावे सुरवर वंदना

जय देव जय देव, जय मंगल मूर्ति
दर्शनमात्रे मनःकमाना पूर्ति
जय देव जय देव

शेंदुर लाल चढायो अच्छा गजमुख को
दोन्दिल लाल बिराजे सूत गौरिहर को
हाथ लिए गुड लड्डू साई सुरवर को
महिमा कहे ना जाय लागत हूँ पद को

जय जय जय जय जय
जय जय जी गणराज विद्यासुखदाता
धन्य तुम्हारो दर्शन मेरा मत रमता
जय देव जय देव

अष्ट सिधि दासी संकट को बैरी
विघन विनाशन मंगल मूरत अधिकारी
कोटि सूरज प्रकाश ऐसे छबी तेरी
गंडस्थल मद्मस्तक झूल शशि बहरी

जय जय जय जय जय
जय जय जी गणराज विद्यासुखदाता
धन्य तुम्हारो दर्शन मेरा मत रमता
जय देव जय देव

भावभगत से कोई शरणागत आवे
संतति संपत्ति सबही भरपूर पावे
ऐसे तुम महाराज मोको अति भावे
गोसावीनंदन निशिदिन गुण गावे

जय जय जी गणराज विद्यासुखदाता
धन्य तुम्हारो दर्शन मेरा मत रमता
जय देव जय देव

3. गणेश चालीसा

जाई गणपति सद्गुणा सदन, कविवार बदन कृपाल,
विघ्ना हरण मंगल कारण, जाई जाई गिरीजालाल
ओम गान गणपतये नमः, ओम गान गणपतये नमः,
ओम गान गणपतये नमः, ओम गान गणपतये नमः,

जाई जाई जाई गणपति गणर्ाजू,
मंगल भरना करना शुभा काजू,
जाई गज़्बडन सदन सुखड़ाता,
विश्वा विनायका बुद्धि विधाता
वक्रतुंडा शुचि शुंदा सुहावना,
तिलक़ा त्रिपुंदा भाल मान भवन,
राजता मानी मुक्ताना यूरा माला,
स्वरना मुकुटा शिरा नयना विशला

ओम गान गणपतये नमः, ओम गान गणपतये नमः,
ओम गान गणपतये नमः, ओम गान गणपतये नमः,

पुस्तक पानी कुठार त्रिशूलाम,
मोड़का भोगा सुगंधित फूलाम,
सुंदरा पीताम्बर ताना सजीत,
चरना पाड़ुका मुनि मान रजित
धनी शिवा सुवान षडानाना भ्राता,
गौरी लालन विश्वा-विख्याता,
रिद्धि सिद्धि तव छँवर सुधरे,
मूषका वहाँ सोहात द्वारे

ओम गान गणपतये नमः, ओम गान गणपतये नमः,

काहऔं जन्मा शुभ कथा तुम्हारी,
आती शुचि पवन मंगलकारी,
एक समय गिरिराज कुमारी,
पुत्रा हेतु तपा किन्हा भारी
भयो यगया जबा पूरना अनुपा,
तबा पहुँचयो ट्यूमा धरी द्वीजा रूपा,
अतिथि जानी के गौरी सुखारी,
बहू विधि सेवा करी तुम्हारी

ओम गान गणपतये नमः, ओम गान गणपतये नमः,

आती प्रसन्ना ह्वाई तुम वारा डीन्ा,
माटू पुत्रा हिट जो ताप कीन्ा,
मिलही पुत्रा तूही, बुद्धि विशला,
बिना गर्भा धरना यही कला
गणनायका गुना ज्ञान निधना,
पूजीता प्रथम रूप भगवाना,
आसा कही अंतर्ध्याना रूप ह्वाई,
पालना पर बालक स्वरूप ह्वाई

ओम गान गणपतये नमः, ओम गान गणपतये नमः,

बनी शिशु रुदन जबही तुम ताना,
लाखी मुख सुख नहीं गौरी सामना,
सकल मगन सूखा मंगल गवाहीं,
नभा ते सूरन सुमन वर्षवहीं
शंभू उमा बहुड़ान लुटावाहीं,
सुरा मुनिज़ाना सूता देखन आवाहीं,
लाखी आती आनंद मंगल सज़ा,
देखन भी आए शनि राजा

ओम गान गणपतये नमः, ओम गान गणपतये नमः,

निजा अवागुना गनी शनि मान महीन,
बालक देखन चाहत नहीं,
गिरिजा कच्चू मान भेदा बढ़ायो,
उत्सावा मोरा ना शनि तूही भयो
कहना लगे शनि मान सकुचई,
का करिहौ शिशु मोहि दिखाई,
नहीं विश्वासा उमा यूरा भयौ,
शनि सोन बालक देखन कहयौ

ओम गान गणपतये नमः, ओम गान गणपतये नमः,

पड़टाहिन शनि दृगाकोना प्रकाशा,
बालक सिरा उड़ी गयो अकॉशा,
गिरजा गिरी विकला ह्वाई धारणी,
सो दुखा दशा गयो नहीं वारानी
हाहाकरा मच्यो कैलाषा,
शनि किन्हों लाखी सूता को नशा,
तुरत गरूडा चढ़ि विष्णु सिधाए,
कटी चकरा सो गाजशिरा लाए

ओम गान गणपतये नमः, ओम गान गणपतये नमः,

बालक के धड़ा उऊपर धरयो,
प्रॅना मंतरा पढ़ी शंकर डरायो,
नामा’गणेशा’शंभूतबकिन्हे,
प्रथम पूज्या बुद्धि निधि वारा डीन्े
बुद्धि परीक्षा जब शिवा कीन्ा,
पृथ्वी कर प्रदक्षिणा लीन्ा,
चले षडानाना भारामी भुलाई,
रचे बैठी तुम बुद्धि उपाई

ओम गान गणपतये नमः, ओम गान गणपतये नमः,

चरना माटू-पितु के धारा लीनें,
तिनके साथ प्रदक्षिणा कींहें
धनी गणेशा कही शिवा हिए हरासयो,
नभा ते सूरन सुमन बहू बरसे
तुम्हारी महिमा बुद्धि बड़ाई,
शेषा सहसा मुखा सके ना गई,
मैं माटी हीन मलिना दुखारी,
कराहूं कौन विधि विनया तुम्हारी

ओम गान गणपतये नमः, ओम गान गणपतये नमः,

भाजता ‘रंसुंदरा’ प्रभुड़सा,
लगा प्रयगा काकरा दुरवासा,
अब प्रभु दया दीं पर कीजैई,
अपनी भक्ति शक्ति कच्चू डीजाई

श्री गणेशा यह चालीसा,
पता कर्रे धारा ध्यान
नीता नाव मंगला ग्रहा बसे,
ल़ाहे जगत सनमना
संबंध अपना सहस्रा दश,
ऋषि पंचमी दिनेशा
पूरना चालीसा भयो,
मंगला मूर्ति गणेशा

ओम गान गणपतये नमः, ओम गान गणपतये नमः

4. मंगलम गणेशम भजन

मंगलम गणेशम
मंगलम मंगलम
देव गणपति देव
गणपति देव
गणपति देव
देव हो देव गणपति देव
मंगलम गणेशम
मंगलम गणेशम
मंगलम गणेशम
मंगलम गणेशम

विघ्ना विनाशक जान सुख दायक
विघ्ना विनाशक जान सुख दायक
मंगलम गणेशम
देव हो देव गणपति देव
मंगलम गणेशम
विघ्ना विनाशक जान सुख दायक
विघ्ना विनाशक जान सुख दायक
मंगलम गणेशम
देव हो देव गणपति देव
मंगलम गणेशम

तू ही आदि तू ही हैं अंत
देव महिमा तेरी हैं अनंत
देव महिमा तेरी हैं अनंत
गजाननन भूत गणाधी डेविताम उमा शूटम
शव विनाश करे कम

मंगलम गणेशा
देव हो देव गणपति देव
मंगलम गणेशम
विघ्ना विनाशक जान सुख दायक
विघ्ना विनाशक जान सुख दायक
मंगलम गणेशम
देव हो देव गणपति देव
मंगलम गणेशम

तू ही शक्ति तू ही विधान
देव तू ही वेद पूरण
देव तू ही वेद पूरण
गजाननाम भूत गणाधी डेविताम
उमा शूटम शव विनाश करे कम

मंगलम गणेशा
देव हो देव गणपति देव
मंगलम गणेशम
विघ्ना विनाशक जान सुख दायक
विघ्ना विनाशक जान सुख दायक
मंगलम गणेशम
देव हो देव गणपति देव
मंगलम गणेशम
मंगलम गणेशम
मंगलम गणेशम
मंगलम गणेशम
मंगलम गणेशम

मंगलम गणेशम
मंगलम गणेशम
मंगलम गणेशम
मंगलम गणेशम

5. वक्रतुंडा महकाया सूर्या कोटि समप्रभा भजन

वक्रतुंडा महकाया सूर्या कोटि समप्रभा
निर्विघ्नम कुरुमेदेव सर्वाकारयेशू सर्वदा
गुरावे सर्वा लोकनाम भीषाजे भावा रोगिणाम
निधाए सर्वा विद्यानाँ दक्षीणामुर्ताए नमः

ओम नमः प्राणवर्ताया शुद्धा ज्ञानेका मूर्ताए
निर्मालया प्रशांताया दक्षिणा मूर्ताए नमः
ईश्वरो गुरु आतमेटी मूर्ति भेदा विभागिनी
व्यॉमवत व्याप्त देहाया दक्षिणा मूर्ताए नमः

6. देवा हो देवा, गणपति देवा गीत

गणपति बाप्पा मोरया,
मंगल मूर्ती मोरया
मोरया रे, बाप्पा मोरया रे

देवा हो देवा, गणपति देवा,
तुमसे बढ़कर कौन
स्वामी तुमसे बढ़कर कौन

और तुम्हारे भक्तजनों में,
हमसे बढ़कर कौन
हमसे बढ़कर कौन

देवा हो देवा, गणपति देवा,
तुमसे बढ़कर कौन
स्वामी तुमसे बढ़कर कौन

अद्भुत रूप ये काया भारी,
महिमा बड़ी है दर्शन की
प्रभु महिमा बड़ी है दर्शन की

बिन मांगे पूरी हो जाए,
जो भी इच्छा हो मन की
प्रभु जो भी इच्छा हो मन की

गणपति बाप्पा मोरया,
मंगल मूर्ती मोरया
देवा हो देवा, गणपति देवा,
तुमसे बढ़कर कौन
स्वामी तुमसे बढ़कर कौन

और तुम्हारे भक्तजनों में,
हमसे बढ़कर कौन
हमसे बढ़कर कौन

छोटी सी आशा लाया हूँ
छोटे से मन में दाता
इस छोटे से मन में दाता

माँगने सब आते हैं
पहले सच्चा भक्त ही है पाता
सच्चा भक्त ही है पाता

देवा हो देवा, गणपति देवा,
तुमसे बढ़कर कौन
स्वामी तुमसे बढ़कर कौन

और तुम्हारे भक्तजनों में,
हमसे बढ़कर कौन
हमसे बढ़कर कौन

भक्तों की इस भीड़ में
ऐसे बगुला भगत भी मिलते हैं
हाँ बगुला भगत भी मिलते हैं

भेस बदल कर के भक्तों का
जो भगवान को छलते हैं
अरे जो भगवान को छलते हैं

गणपति बाप्पा मोरया,
मंगल मूर्ती मोरया
देवा हो देवा, गणपति देवा,
तुमसे बढ़कर कौन
स्वामी तुमसे बढ़कर कौन

और तुम्हारे भक्तजनों में,
हमसे बढ़कर कौन
हमसे बढ़कर कौन

एक डाल के फूलों का भी
अलग अलग है भाग्य रहा
प्रभु अलग अलग है भाग्य रहा

दिल में रखना दर उसका
मत भूल विधाता जाग रहा
मत भूल विधाता जाग रहा

गणपति बाप्पा मोरया,
मंगल मूर्ती मोरया
देवा हो देवा, गणपति देवा,
तुमसे बढ़कर कौन
स्वामी तुमसे बढ़कर कौन

और तुम्हारे भक्तजनों में,
हमसे बढ़कर कौन
हमसे बढ़कर कौन

देवा हो देवा, गणपति देवा,
तुमसे बढ़कर कौन
स्वामी तुमसे बढ़कर कौन

7. एकदंताय वक्रतुण्डाय गौरीतनयाय धीमहि भजन

गणनायकाय गणदेवताय गणाध्यक्षाय धीमहि ।
गुणशरीराय गुणमण्डिताय गुणेशानाय धीमहि ।
गुणातीताय गुणाधीशाय गुणप्रविष्टाय धीमहि ।
एकदंताय वक्रतुण्डाय गौरीतनयाय धीमहि ।
गजेशानाय भालचन्द्राय श्रीगणेशाय धीमहि ॥

गानचतुराय गानप्राणाय गानान्तरात्मने ।
गानोत्सुकाय गानमत्ताय गानोत्सुकमनसे ।
गुरुपूजिताय गुरुदेवताय गुरुकुलस्थायिने ।
गुरुविक्रमाय गुह्यप्रवराय गुरवे गुणगुरवे ।
गुरुदैत्यगलच्छेत्रे गुरुधर्मसदाराध्याय ।
गुरुपुत्रपरित्रात्रे गुरुपाखण्डखण्डकाय ।
गीतसाराय गीततत्त्वाय गीतगोत्राय धीमहि ।
गूढगुल्फाय गन्धमत्ताय गोजयप्रदाय धीमहि ।
गुणातीताय गुणाधीशाय गुणप्रविष्टाय धीमहि ।
एकदंताय वक्रतुण्डाय गौरीतनयाय धीमहि ।
गजेशानाय भालचन्द्राय श्रीगणेशाय धीमहि ॥

ग्रन्थगीताय ग्रन्थगेयाय ग्रन्थान्तरात्मने ।
गीतलीनाय गीताश्रयाय गीतवाद्यपटवे ।
गेयचरिताय गायकवराय गन्धर्वप्रियकृते ।
गायकाधीनविग्रहाय गङ्गाजलप्रणयवते ।
गौरीस्तनन्धयाय गौरीहृदयनन्दनाय ।
गौरभानुसुताय गौरीगणेश्वराय ।
गौरीप्रणयाय गौरीप्रवणाय गौरभावाय धीमहि ।
गोसहस्राय गोवर्धनाय गोपगोपाय धीमहि ।
गुणातीताय गुणाधीशाय गुणप्रविष्टाय धीमहि ।
एकदंताय वक्रतुण्डाय गौरीतनयाय धीमहि ।
गजेशानाय भालचन्द्राय श्रीगणेशाय धीमहि ॥

 

[su_youtube_advanced url=”https://youtu.be/5iTxEKsRfvM” title=”Vadesh Vandana in Hindi by T-series”]

More Song Lyrics

Lakshmi Ji ki Aarti Anuradha Paudwal Lyrics MP 3

Mahabharat Serial Title Song Lyrics

Ramayan Rasta Dekhat Sabri Lyrics in Hindi

Damru Bajaya Song Lyrics Hansraj Raghuwanshi

Leave a Reply

Your email address will not be published.